Saturday, July 31, 2010

आस्तिक और नास्तिक



यदि हम पूरे आस्तिक है -
तो भी बह्स नही करते.... 
यदि हम पूरे नास्तिक हैं  -
तो भी बह्स नही करते...

लेकिन  
हम ना तो पूरे अस्तिक हैं 
और ना ही पूरे नास्तिक....
इसी लिए हम बह्स करते हैं।
क्युँकि 
पूर्णता को प्राप्त व्यक्ति के पास 
बह्स का कोई विकल्प ही नही बचता।



21 comments:

  1. वाह जी, बिलकुल सही कहा, ग्याणी कभी बहस नही करते, धन्यवाद

    ReplyDelete
  2. सत्य वचन. अधजल गगरी छलकत जात...इसीलिए कहा गया है.

    ReplyDelete
  3. ek dam sahi baat kahi aapne...
    fala hua ped hi jhuka hua hota hai...
    aabhaar..!!

    ReplyDelete
  4. बड़ी गहरी बात है, सीधे सादे शब्दों में।

    ReplyDelete
  5. Aapne meri musgqil badha di. Ab, jo bhi bahas nahiN karte, sabko gyani man-na padega. Aur inme wo log bhi shaamil honge jo bahas karte to hain par mauka padne par yah kahne ka hunar bhi rakhte hain ki nahi bhai, ham to kabhi nahin karte. Vaise gyani agar bahas nahi karte to pata kaise chalta hai ki ve gyani hain. Aur aisa gyan kisike kis kam ka !?
    aapne apni saralta me apni taraf se thik baat kahi hai par is tarah se kahi batoN se log aksar anuchit labh utha lete haiN.

    ReplyDelete
  6. सही में हम अधुरे है . तर्क और वितर्क की जगह कुतर्क ही करते है हम

    ReplyDelete
  7. Bahut khoob ,
    sunder abhibyakti.
    Hardik Badhai.

    ReplyDelete
  8. Bahut khoob ,
    sunder abhibyakti.
    Hardik Badhai.

    ReplyDelete
  9. bahut hi sundar baat baali ji , padhkar aanand aa gaya hai . satya se oatprot hai ... badhayi

    ReplyDelete
  10. आज तो बडी ही गहरी और सही बात कह दी…………जहाँ पूर्णता होती है वहाँ सभी प्रश्न समाप्त हो जाते हैं।

    ReplyDelete
  11. वाह!!!!! क्या बात है बड़ी गहरी बात है

    ReplyDelete
  12. बहुत अच्छी प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  13. बहुत अच्छी प्रस्तुति।
    राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है।

    ReplyDelete
  14. अजि बिलकुल सही कहा बहस वही कर सकता है जिसके मन में कुछ पाने कि लालसा हो जिसकी कोई अभिलाषा नहीं बची वो क्या बहस करेगा

    ReplyDelete
  15. सही बात ।
    बस पूर्ण आदमी आजकल ढूंढे से भी नहीं मिलते ।

    ReplyDelete

आप द्वारा की गई टिप्पणीयां आप के ब्लोग पर पहुँचनें में मदद करती हैं और आप के द्वारा की गई टिप्पणी मेरा मार्गदर्शन करती है।अत: अपनी प्रतिक्रिया अवश्य टिप्पणी के रूप में दें।