Thursday, January 1, 2009

नया साल आ रहा है।

मेरे सपनों को
साथ लेकर,
मेरे अपनों की
यादें देकर,
देखो!
वह जा रहा है.......
नया साल आ रहा है।

नये साल!
तुम बुरा मत मानना।
कुछ सालों से
मैं तुम्हारा स्वागत
ठीक से नही कर पा रहा हूँ।
क्यूँकि हर बार की तरह
इस बार भी
मुस्काहट के पीछे
आँसु छुपा रहा हूँ।

जानता हूँ
हम सब रस्म तो निभाएगें।
"नया साल मुबारक हो"
सब मिल कर गाएगें।
लेकिन क्या जो हमारे अपनें
दहशतगर्द का शिकार हुए
उन्हें भूल पाएगें।
देश के लिए जो मर मिटे
उन शहीदों के लिए
क्या दो आँसु भी ना बहाएगें?
मुझे तो
यही ख्याल
खा रहा है।

मेरे सपनों को
साथ लेकर,
मेरे अपनों की
यादें देकर,
देखो!
वह जा रहा है.......
नया साल आ रहा है।
नया साल आ रहा है।

19 comments:

  1. बहोत खूब लिखा है बाली साहब नव वर्ष मुबारक हो मंगलकामना के साथ ..............

    अर्श

    ReplyDelete
  2. नये वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ, यह आपके लिए सुख व समृद्धि लाये। शुभ वर्ष 2009!

    ReplyDelete
  3. नव वर्ष की आप और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं !!!नया साल आप सब के जीवन मै खुब खुशियां ले कर आये,ओर पुरे विश्चव मै शातिं ले कर आये.
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  4. नया साल आ गया है यह साल आपको खुशिया दे शान्ति दे आसू न दे यही प्रार्थना है परमपिता परमेश्वर से

    ReplyDelete
  5. aane do naa "bali" is naye naye saal ko........
    ham dekha karenge mud-mud ke gujre hue saal ko......!!
    आने दो ना "बाली" इस नए-नए साल को........
    हम देखा करेंगे मुड़-मुड़ के गुजरे हुए साल को......!!

    ReplyDelete
  6. सुंदर रचना. . नव वर्ष आपके लिए मंगलमय हो.

    ReplyDelete
  7. naye varsh ki shubkaamnaye, baali sir ji ,

    aapki ye nazm to bahhut sundar ban padhi hai

    badhai


    vijay

    ReplyDelete
  8. नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  9. नववर्ष की हार्दिक शुभकामना और बधाई . आपका जीवन सुख सम्रद्धि वैभव से परिपूर्ण रहे . उज्जवल भविष्य की कामना के साथ.
    महेंद्र मिश्रा
    जबलपुर.

    ReplyDelete
  10. आपको नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं...

    ReplyDelete
  11. अरे वाह....
    बहुत बहुत बहुत ही अच्छा लिखा है....
    नए साल के आगमन पर.......कुछ पुरानी यादें बहुत खूब///////

    अक्षय-मन

    ReplyDelete
  12. Respected Bali ji,
    Naye sal ka svagat apne ek khoobsoorat kavita se kiya hai.Apko nav varsh kee dheron shubhkamnayen.

    ReplyDelete
  13. nav varsh ki hardik shubhkamnaye.mai bhi kuchch aisa hi sochti hoon.

    ReplyDelete
  14. मेरे सपनों को
    साथ लेकर,
    मेरे अपनों की
    यादें देकर,
    देखो!
    वह जा रहा है.......
    नया साल आ रहा है।

    - सुंदर पंक्तियाँ !

    ReplyDelete
  15. नव वर्ष पर आपकी प्रस्तुति पढ़ी. अच्छी लगी. रचना का सकारात्मक उल्लेख मैंने अपने ब्लॉग की नयी पोस्ट में किया है. कृपया देखियेगा.

    ReplyDelete
  16. Bali ji ,
    Naye sal par achchhee kavita ke liye sadhuvad.
    Apke jeevan men bhee naya sal dheron khushiyan laye.
    Hemant Kumar

    ReplyDelete

आप द्वारा की गई टिप्पणीयां आप के ब्लोग पर पहुँचनें में मदद करती हैं और आप के द्वारा की गई टिप्पणी मेरा मार्गदर्शन करती है।अत: अपनी प्रतिक्रिया अवश्य टिप्पणी के रूप में दें।