Saturday, December 11, 2010

एक प्रेम गीत....



 किसे याद करें....  किसे भूले हम  
वक्त की मार से रोई आँखें ......

जिसने भी प्यार की दुनिया में रखा होगा कदम
दिल मे होगा इक दर्द बैठा होगा कही गम
याद आती होगी उसको यार की बाँहें......


सर्द रातों मे चेहरा उनका दिखता है अक्सर
उदास होती है जिन्दगी कटॆगा कैसे सफर
भुल जाती हैं अब चलते चलते ये राहें.........



प्यार के गीत का मतलब कुछ नही होता
जिसने पाया है वही तो अक्सर है खोता
गवाही देती हैं इसकी गूँजती ये आहें.....


45 comments:

  1. बढ़िया रचना ..काफी दिनों बाद आपकी रचना पढ़ने मिली.... सुन्दर प्रस्तुति...

    ReplyDelete
  2. प्यार के गीत का मतलब कुछ नही होता
    जिसने पाया है वही तो अक्सर है खोता
    गवाही देती हैं इसकी गूँजती ये आहें.....

    गूँगे की भाषा तो गूँगा ही जाने……………सुन्दर रचना।

    ReplyDelete
  3. बहुत ही सुन्‍दर शब्‍द रचना ...।

    ReplyDelete
  4. सच ही कहा आपने, जो पाता है, उसी के पास खोने के लिये कुछ होता है।

    ReplyDelete
  5. प्यार के गीत का मतलब कुछ नही होता
    जिसने पाया है वही तो अक्सर है खोता
    गवाही देती हैं इसकी गूँजती ये आहें.....
    bahut khoob

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति के साथ ही एक सशक्त सन्देश भी है इस रचना में।

    ReplyDelete
  7. सुना है खोना ही पड़ता है प्यार में। बहुत अच्छी प्रस्तुति। हार्दिक शुभकामनाएं!
    विचार- डॉ. राजेन्द्र प्रसाद - भारतीयता के प्रतीक

    ReplyDelete
  8. बेहतरीन भावों से सजी प्रस्तुति. पर आपकी पोस्ट पर ये ११ दिसंबर क्यों दिख रहा है. अडवांस कापी है क्या हा... हा ...

    ReplyDelete
  9. @रचना दीक्षित जी ...११ तरीख के शडयुल मे लगाइ थी लेकिन पहले ही पोस्ट हो गई.....पता नही कैसे?

    ReplyDelete
  10. प्यार के गीत का मतलब कुछ नही होता
    जिसने पाया है वही तो अक्सर है खोता.....
    sunder prastuti. koi gunguna bhi rahi hai......
    abhaar.

    ReplyDelete
  11. .

    सच ही तो है - जो पाता है वही खोता भी है।
    सुन्दर अभिव्यक्ति।

    .

    ReplyDelete
  12. जब दर्द नहीं था सीने में
    क्या खाक मज़ा था जीने में ...

    ReplyDelete
  13. जिसने पाया है वही तो अक्सर खोता है।

    बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति। बधाई।

    ReplyDelete
  14. बहुत खूब .. अच्छा लिखा है ..

    ReplyDelete
  15. प्यार के गीत का मतलब कुछ नही होता
    जिसने पाया है वही तो अक्सर है खोता
    गवाही देती हैं इसकी गूँजती ये आहें.....
    बाली जी आपकी हर रचना मे कुछ दर्द जरूर रहता है। जिसे पाया है उसे खोना भी पडता है। हमेशा सब कुछ एक समान तो नही रहता न। अच्छी लगी रचना
    शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  16. posted by परमजीत सिँह बाली at 6:08 AM on Dec 11, 2010

    ये अग्रिम तारीखें कैसे ???

    ReplyDelete
  17. ... bahut sundar .... behatreen ... bhaavpoorn !!!

    ReplyDelete
  18. paramjeet ji
    aap bahut dino baad dikhi,par bahut hi achhi aur bhav-purn prastuti ke saath.
    प्यार के गीत का मतलब कुछ नही होता
    जिसने पाया है वही तो अक्सर है खोता
    aksar yah bhihota hai.
    poonam

    ReplyDelete
  19. Ati utkrishth rachna ha.
    itne saare prashanskkon ke beech aapki kavita ke liye mere paas shabd kum padege.

    ReplyDelete
  20. बहुत बधिया लगा पढ कर। कई मिनट तो फोटो ही देखते रहे। बहुत अच्छी प्रस्तुति। हार्दिक शुभकामनाएं!
    विचार-मानवाधिकार, मस्तिष्क और शांति पुरस्कार

    ReplyDelete
  21. प्यार के गीत का मतलब कुछ नही होता
    जिसने पाया है वही तो अक्सर है खोता
    गवाही देती हैं इसकी गूँजती ये आहें.....
    bahut sahi,
    bahut badhiyaa

    ReplyDelete
  22. बहुत सुंदर कविता,चिडिया रानी का चित्र भी बहुत सुंदर. धन्यवाद

    ReplyDelete
  23. वाह.. न जाने ये सर्द रातें कब आएंगीं???
    बहुत प्यारी रचना...

    ReplyDelete
  24. जिसने भी प्यार की दुनिया में रखा होगा कदम
    दिल मे होगा इक दर्द बैठा होगा कही गम
    याद आती होगी उसको यार की बाँहें....


    बहुत खूब ... प्यार में तो अक्सर ऐसा होता है ... सच लिखा है ...

    ReplyDelete
  25. प्रेम के दर्द को बयां करती सुंदर अभिव्यक्ति....

    ReplyDelete
  26. बहुत सुंदर|किन्तु चिडिया और भी सुंदर है|
    घुघूती बासूती

    ReplyDelete
  27. मतलब तो कुछ भी नहीं होता और होने को सब कुछ होता है. इसका मतलब ये है कि प्यार के गीत का मतलब तो वही जाने जिनको इसने मतलब है, और जिनको मतलब नहीं है वो भला क्या इसका मतलब समझेगे? :)

    ReplyDelete
  28. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  29. जिसने भी प्यार की दुनिया में रखा होगा कदम
    दिल मे होगा इक दर्द बैठा होगा कही गम
    याद आती होगी उसको यार की बाँहें....
    ...bahut sundary pyarbhari rachna..

    ReplyDelete
  30. Very nicepoem.it touched my heart.who has written this poem.realy great.

    ReplyDelete
  31. Merry Christmas
    hope this christmas will bring happiness for you and your family.
    Lyrics Mantra

    ReplyDelete
  32. Merry Christmas
    hope this christmas will bring happiness for you and your family.
    Lyrics Mantra

    ReplyDelete
  33. जो पाता है वही खोता है। सुन्दर अभिव्यक्ति।

    ReplyDelete
  34. सुंदर कविता,
    चिडिया रानी भी बहुत सुंदर.

    धन्यवाद

    ReplyDelete
  35. सुन्दर! प्यार की अभिव्यक्ति..

    आभार

    "एक लम्हां" पढने ज़रूर आएं ब्लॉग पर..

    ReplyDelete
  36. बेहतरीन रचना। बधाई। आपको भी नव वर्ष 2011 की अनेक शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  37. BAdhiyan rachana aur ek miththa sa dard jo beawaaz, besuna aur andekhi si ................ jo humesa ki tarah uske kareeb khichti hai.

    ReplyDelete

आप द्वारा की गई टिप्पणीयां आप के ब्लोग पर पहुँचनें में मदद करती हैं और आप के द्वारा की गई टिप्पणी मेरा मार्गदर्शन करती है।अत: अपनी प्रतिक्रिया अवश्य टिप्पणी के रूप में दें।