Sunday, October 21, 2012

जब जीवन में.....


जब जीवन में
सिर्फ मस्ती ही
नजर आये
हर कोई गीत गाता नजर आये
तुम समझ लेना-
तुम्हारा बचपन
अभी मौजूद है।


जब जीवन मे
वास्तविक प्रश्न
भूलें रहें
और तुम्हें हर तरफ
सैंकड़ो रास्ते नजर आते रहें
तब तक तुम समझना-
कि तुम अभी जवान हो।


जब जीवन के
वास्तविक प्रश्न
सामने आ कर
खड़े हो जाये तो
समझ लेना चाहिए-
अब हम बूढे हो गये हैं।


जब जीवन में
कोई प्रश्न ना रह जाये
बस एक ही चाह हो-
"तुम्हारी बात रखी जाये"
तब समझ लेना-
तुम सठिया गये हो।


5 comments:

  1. यह उन्माद, यह मस्ती सदा बनी रहे।

    ReplyDelete
  2. ये मस्त मस्त भाव जीवन में हमेशा बनी रहें..

    ReplyDelete

  3. कल 29/11/2012 को आपकी यह बेहतरीन पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete

आप द्वारा की गई टिप्पणीयां आप के ब्लोग पर पहुँचनें में मदद करती हैं और आप के द्वारा की गई टिप्पणी मेरा मार्गदर्शन करती है।अत: अपनी प्रतिक्रिया अवश्य टिप्पणी के रूप में दें।