Friday, August 3, 2007

हिन्दुस्तान अमरीका बन जाए तो कैसा होगा..



हमारे लिए इन पाँच बातों को बताना सरल नही है क्यूँकि हमने अमरीका देखा तो है लेकिन सिर्फ नक्शों में । लेकिन जब हमने देखा कि इस में हिस्सा लेने हेतू बड़े-बड़े महारथीयों ने कमरकस ली है । वे सभी अपनें-अपनें अस्त्र-शस्त्र ले कर युध क्षेत्र की ओर कूच कर गए हैं और कुछ कूच करने की तैयारी में लगें हैं तो हमें भी जोश आ गया । हमनें भी अपनें खच्चर को तैयार किया और हाथ में अनुगूँज का झंडा ले युध में आप का साथ देनें आ पहुँचे हैं । हम अच्छी तरह जानते हैं कि हम ही पहले नम्बर पर होगें अगर अनुगूँज पीछे से गिनना शुरू करेगी/करेगा । अब पाँच बातें पढ़ कर हमें धन्य करें ।


१. हिन्दुस्तान अमरीका बन जाए तो यहाँ के नेताओं की मौज हो जाएगी । क्यूँकि अपनें नेता अपनी आदत तो बदलने से रहे । पहले चारा खा जाते थे फिर मसाईल और बंम और भी जो कुछ उपलब्ध होगा ,खा जाएगें और डकार भी नही लेगें । हर क्षेत्र में अपना यह हुनर अजमानें में लगे रहेगें । वैसे भी लालू जी से दाँव-पेंच सीखने विदेशी आते ही रहते हैं । फिर बुश के पद का इस्तमाल बाबा जी की आत्मा से साक्षात्कार कराने मे कोई विरोध नही कर सकेगा । वह अपने प्रभावशाली कुतर्कों से अपनी हर कारगुजारी को आसानी से सही साबित कर सकेगें ।


२. हिन्दुस्तान के अमरीका बनने पर विकसित देशो में आ जाएगें । लोगों को फैमिली बढनें की चिन्ता नही रहेगी । इस का भरपूर फायदा उठाया जाएगा । हम चीन से उस का जनसंख्या के आधार पर प्रथम रहने का गौरव उस से छीन लेगें । हमारे देश की जनसंख्या बहुत जल्दी ही दुगनी हो जाएगी । क्यूँकि हम मानते हैं कि बच्चें भगवान की देन होते हैं । हमारी सोच तो बदलने से रही ।


३. हमारे यहाँ जो थोडे बहुत अपने बड़े़-बूढों की इज्जत घर मे होती है । फिर उन के लिए बुजुर्ग-आश्रमों की जरूरत बढ जाएगी । क्यूँकि वैसे ही बच्चे अपने माँ-बाप की इज्जत कम ही करते हैं ।फिर शिल्पा के पद चिन्हों पर, हमारे दॆश की युवा पीड़ी को चलनें में भी कोई अड़चन नही आएगी । ऐसे दृश्य हर जगह देखने को मिल जाएगें । निशब्द और चीनी कम जैसी फिल्मों को हमारे यहाँ के बुजुर्ग भी अपने जीवन में उतारनें का भरसक प्रयत्न करेगें ।


४. हमारे नेता जोर-शोर से पहले समस्याओं को खड़ा करेगें और फिर अपना लोहा मनवानें के लिए पड़ोसी देशों मे व आर्थिक रूप से कमजोर देशों पर, हमले कर के अपनी धाक जमाने में कामयाब होनें लगेगें और हम बताएगें कि कैसे पहले तमिलनाडू में लिट्टे को ट्रेनिंग दे कर समस्या पैदा की जाती है और फिर शांती सैनाएं भेज कर समस्या को समाधान करनें की वाह वाही दुनिया में लूटी जाती है , भले ही इस काम में हमारे जवान बेवजह मारे जाएं । वैसे हमारे कुछ पुराने नेताओं को इस काम में महारत तो हासिल पहले ही थी । वह इसे अपने देश में भी अपनी कुर्सी बचाने के लिए समय-समय पर इस्तमाल करते रहे हैं । लेकिन अमरीका बनने पर इस का और अधिक विस्तार हो सकेगा ।


५. महिलाओ को पूरी आजादी मिल सकेगी । तलाक आसानी से मिल सकेगें और अन्त मे ..........हमारे बिहार मे क्रांती आ जाएगी । कैसे ?....यह लालू जी और बिहार के सांसद बताएगें । हमारे देश में होने वाले सभी चमत्कारों पर शोध के विधार्थी अनुसंधान करेगें । स्वामी जी के सभी आसन पेटेंन्ट किए जा सकेगें ।
इस से ज्यादा हम कुछ नही बता सकते । क्यूँकि भारत अतुलनीय है ।

4 comments:

  1. बढ़िया दौड़ा आपका खच्चर तो, बधाई. :)

    ReplyDelete
  2. बढिया सोंचे हो भाई, हमारी भी भावनायें कुछ ऐसे ही व्‍यक्‍त होती ।

    बधाई

    “आरंभ” संजीव का हिन्‍दी चिट्ठा

    ReplyDelete
  3. कुछ भी हो सकता है, भारत अतुल्य है. :) सही कहा.

    ReplyDelete

आप द्वारा की गई टिप्पणीयां आप के ब्लोग पर पहुँचनें में मदद करती हैं और आप के द्वारा की गई टिप्पणी मेरा मार्गदर्शन करती है।अत: अपनी प्रतिक्रिया अवश्य टिप्पणी के रूप में दें।