Wednesday, May 16, 2007

छोटा मुँह बड़ी बात-३(क्षणिकांए)

आधुनिक गुरू

आज के गुरू
अपना प्रचार
स्वयं मीडिया द्वारा
करते, कराते हैं।

चाहें जो भी
हथकंडा अपनाना पड़े
नही कतराते हैं।

इसी लिए
ज्यादातर गुरू
असलियत खुलनें पर
मसखरे नजर आते हैं।

4 comments:

  1. इसीलिये हम मिडिया पर
    नजर नहीं आते हैं. :)

    ReplyDelete
  2. अपने अपने आईने में
    सभी
    अपने को खूबसूरत
    पाते हैं.

    लिखते रहिये. सटीक लिखा है

    ReplyDelete
  3. इसीलिए हम आपके ब्लॉग पर
    आये बिना रह नहीं पाते हैं।

    ReplyDelete
  4. जरा सी आवाज
    और कौवे कोयल
    अलग अलग हो जाते हैं।

    ReplyDelete

आप द्वारा की गई टिप्पणीयां आप के ब्लोग पर पहुँचनें में मदद करती हैं और आप के द्वारा की गई टिप्पणी मेरा मार्गदर्शन करती है।अत: अपनी प्रतिक्रिया अवश्य टिप्पणी के रूप में दें।